Download Our App

Follow us

Home » शिक्षा » 22 फरवरी से हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट की परीक्षाएं शुरू बोर्ड ने किए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

22 फरवरी से हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट की परीक्षाएं शुरू बोर्ड ने किए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

22 फरवरी से हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट की परीक्षाएं शुरू बोर्ड ने किए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम 

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षाएं 22 फरवरी से शुरू हो रही हैं। इसके लिए बोर्ड की तरफ से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। परीक्षा को नकलविहीन कराने के लिए केंद्रों से लेकर कक्ष निरीक्षकों और उत्तर पुस्तिकाओं तक में इस बार तकनीक का इस्तेमाल किया गया है। इस बार हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के कुल 55 लाख 25 हजार 308 परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं। इतनी बड़ी संख्या में परीक्षार्थियों के लिए सूबे में 8,265 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।

माध्यमिक शिक्षा परिषद के सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने बताया कि 8,265 केंद्रों में 566 राजकीय विद्यालय, 3,479 सहायता प्राप्त और 4,220 वित्तविहीन विद्यालय शामिल हैं। इन परीक्षा केंद्रों पर कुल दो लाख 99 हजार 121 कक्ष निरीक्षक तैनात किए गए हैं। परीक्षा केंद्रों के निरीक्षण के लिए कुल 1,297 सेक्टर मजिस्ट्रेटों, 430 जोनल मजिस्ट्रेटों, 75 राज्य स्तरीय पर्यवेक्षकों और 416 सचल दलों का गठन किया गया है। इसके साथ ही सभी परीक्षा केंद्रों पर एक-एक केंद्र व्यवस्थापक, वाह्य केंद्र व्यवस्थापक और स्टैटिक मजिस्ट्रेट नियुक्त किए गए हैं।

बोर्ड परीक्षा में सोशल मीडिया और व्हाट्सएप के माध्यम से किसी विषय की परीक्षा समाप्त होने से पहले यदि उस विषय का प्रश्न पत्र या उसका कोई भाग या उसके हल को सार्वजनिक करने का प्रयास किया जाता है तो ऐसा करने वाले के खिलाफ विधिक कार्रवाई की जाएगी। संबंधित व्यक्ति के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी और यह अपराध गैर जमानती होगा। परीक्षाओं में नकल या किसी भी गड़बड़ी की शिकायत टोल फ्री नंबरों 18001805310, 18001805312 पर की जा सकती है।

माध्यमिक शिक्षा परिषद बोर्ड ने नकलविहीन परीक्षा कराने के लिए परीक्षा केंद्रों पर कड़ी निगरानी रखी जाएगी। इसके लिए केंद्रों के एक लाख 35 हजार परीक्षा कक्षों और परिसर में लगभग तीन लाख वॉयस रिकॉर्डर युक्त सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इसके लिए प्रत्येक जिले, पांचों क्षेत्रीय कार्यालयों और माध्यमिक शिक्षा परिषद के मुख्यालय में कमांड और कंट्रोल सेंटर बनाए गए हैं, जहां से 24 घंटे निगरानी रखी जाएगी। साथ ही कक्ष निरीक्षकों के परिचय पत्र में क्यूआर कोड लगाया गया है। उत्तर पुस्तिकाओं में भी अदला-बदली रोकने के लिए क्यूआर कोड लगाया गया है। साथ ही पहली बार उत्तर पुस्तिका के सभी पृष्ठों पर क्रमांक संख्या अंकित की गई है। माध्यमिक शिक्षा परिषद बोर्ड ने अतिसंवेदनशील मथुरा, बागपत, अलीगढ़, मैनपुरी, एटा, हरदोई, आजमगढ़, बलिया, मऊ, प्रयागराज, कौशाम्बी, चंदौली, जौनपुर, गाजीपुर, देवरिया, गोंडा 16 जिलों में विशेष निगरानी रखी जाएगी।

दुष्कर्म के आरोपी को कोर्ट ने सुनाई 10 साल कारावास की सजा

7k Network

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Latest News