Download Our App

Follow us

Home » दुर्घटना » पटाखा विस्फोट घटना के शिकार लोगों के परिजनों से मिला सकिपा का प्रतिनिधि मंडल

पटाखा विस्फोट घटना के शिकार लोगों के परिजनों से मिला सकिपा का प्रतिनिधि मंडल

पटाखा विस्फोट घटना में शिकार मृतकों के परिजनों को दस लाख एवं घायलों के परिजनों को मिले पांच लाख रुपए एवं सरकारी नौकरी-सकिपा की मांग

उत्तर प्रदेश कौशाम्बी जिले के समर्थ किसान पार्टी का एक प्रतिनिधि मंडल बुधवार को भरवारी पटाखा विस्फोट कांड की घटना के शिकार हुए लोगों के परिजनों से मिला और उनके दुखदर्द को साझा किया। साथ ही पार्टी स्तर पर उनके लिए हर संभव सहयोग करने का उन्हे आश्वासन दिया। शासन प्रशासन से पीड़ितों के परिजनों को दी गई सहायता राशि को अपर्याप्त बताते हुए मृतकों के परिजनों को दस लाख एवं घायलों के परिजनों को पांच लाख रुपए साथ प्रत्येक पीड़ित परिवार के एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी देने की सरकार से मांग की।

बुधवार को समर्थ किसान पार्टी के नेता एडवोकेट मो सारुख़ की अगुवाई में पार्टी का एक प्रतिनिधि मंडल भरवारी पटाखा विस्फोट के शिकार हुए लोगों के परिजनों से उनके गांव अमवां जाकर मिला और उनकी आपबीती सुनी साथ ही उनको ढाढस बंधाया गांव अमवां निवासी रामभवन पटेल, भोलानाथ पटेल, दया प्रसाद पटेल आदि से वार्ता भी की। उन लोगों से वार्ता के क्रम में प्रतिनिधि मंडल को ज्ञात हुआ कि अमवा निवासी अशोक कुमार, शिव नारायण, शिवाकांत की इस दुखद घटना में मृत्यु हो गई है जबकि चमन्धा गांव के भी कई लोगों की इस घटना में जान चली गई है साथ ही कई लोग इस घटना मे बुरी तरह से घायल हुए हैं जिनका इलाज चल रहा है।

इस अवसर पर प्रतिनिधि मंडल के अगुवा एडवोकेट मो सारुख़ ने उन लोगों की पार्टी प्रमुख अजय सोनी से फोन पर वार्ता कराई और पीड़ितों को आश्वासन दिया कि समर्थ किसान पार्टी इस मामले में पीड़ित परिवारों के साथ है और उनके लिए पार्टी हर सम्भव सहायता करेगी आगे भी कहा कि यह घटना बेहद विभत्स घटना है और इस घटना से हम सब बहुत दुखी हैं। इसी के साथ आगे कहा कि सरकार द्वारा इस घटना के शिकार हुए लोगों के परिजनों को दी गई आर्थिक सहायता राशि अपर्याप्त है। ऐसी दर्द विदारक घटना के मद्देनजर सरकार को पीड़ितों के परिजनों को समुचित सहायता करनी चाहिए। समर्थ किसान पार्टी की ओर से मो सारुख़ ने सरकार से मांग किया कि मृतकों के परिजनों को दस लाख एवं घायलों के परिजनों को पांच लाख रूपये की सरकार आर्थिक सहयता करे। आगे कहा कि इन गरीब परिवारों के पास रोजगार का कोई साधन नहीं है, लिहाजा प्रत्येक पीड़ित परिवार के कम से कम एक एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी दी जाए। इस अवसर पर प्रतिनिधि मंडल में मो सारुख के साथ सुभाष सरोज, हरिश्चंद्र निषाद, अमित सोनी समेत कई ग्रामीण लोग मौजूद रहे।

इसे भी पढ़ें विभिन्न समस्याओं को लेकर व्यापारी सीओ से मिले

7k Network

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Latest News